newsdog Facebook

काली मिर्च के फायदे, अनेक बिमारियों की एक दवा काली मिर्च काली....

News 24 pal pal ki khabar 2018-01-12 17:21:39


किंग ऑफ स्पाइस या ब्लैक पेपर नाम से प्रचलित काली मिर्च भोजन में इस्तेमाल किए जाने वाले गर्म मसाले का अहम् हिस्सा है। काली मिर्च हमारे भोजन का स्वाद ही नहीं बढ़ाती, कई बीमारियों के इलाज में सहायक साबित होती है।

काली मिर्च , काला  नमक भुना हुआ जीरा और अज्वैन को पीस कर लसी या  निम्बू पानी में डाल कर पीने से पाचन किर्या दरुस्त रहती है | इस  में केल्शियम , आइरन, फास्फोरस, कैरोटिन, थाईमन और रिथोफ्लेब्न जैसे पोष्टिक तत्व होते है | की गयी स्टडी के अनुसार काली मिर्च में बायो-एन्हंस्र नाम का रेसाइन होता है ,जिस की मौजूदगी में किसी भी दवाई का असर बढ़ जाता है तथा दवाई कम मात्रा में भी तेज असर करती है |

खांसी तथा आवाज का बैठना

गले के बैठने में काली मिर्च का सेवन लाभकारी होता है और इस से मुह के छाले भी ठीक हो जाते है |

1. दस काली मिर्चे चबा कर गरम पानी पी लीजये | एस प्रकिर्या को  रोजना  तीन बार करने से सर्दी के कारण सव्रभंग ठीक हो जाती है |

2. चुटकी भर पीसी हुई काली मिर्च आधा चमच घी के  साथ मिला कर खाना खाने के बाद चाटने से  खांसी भी ठीक हो जाती है |

ब्लड प्रेशर को काबू करती है

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने व शरीर को आराम देने में काली मिर्च बेहद फायदेमंद है। यदि आपका ब्लड प्रेशर बढ़ गया हो तो छोटी चम्मच काली मिर्च का पाउडर को आधे गिलास पानी में मिलाकर पीएं। आपका बीपी कंट्रोल होने लगेगा।

पेट में गैस व एसिडिटी

पेट में गैस या एसिडिटी की समस्या होने पर आप तुंरत नींबू में काला नमक और काली मिर्च का पाउडर या 2 दाने मिलाकर इसका रस चूसें। यह आपकी अपच व गैस की समस्या को पल भर में दूर कर देगी।

गठिया रोग में

जो लोग गठिया की समस्या से परेशान हैं वे तिल के गर्म तेल में काली मिर्च को डालकर उसे ठंडा कर लें और बाद में उस तेल से गठिया वाली जगह पर मालिश करें। एैसा करने से दर्द मे आराम मिलेगा।

पेट के कीड़े दूर करती है

यदि पेट में कीड़े की समस्या हो तो थोड़ी सी मात्रा में काली मिर्च के पाउडर को एक गिलास छाछ में घोलकर पी लें।दूसरा उपाय है किशमिश के साथ काली मिर्च दिन में तीन बारी खाएं।

अन्य फायदे

  • काली मिर्च को प्याज व नमक के साथ पीसकर सिर के बालों में लगाने से दाद, खुजली के कारण झड़ने वाले बालों की सुरक्षा होती है।
  • काली मिर्च और शरीफे के बीज पीसकर घी में मिलाकर बालों में लगाने और डेढ़-दो घंटे बाद सिर धोने से जुएं ठीक हो जाती हैं।
  • काली मिर्च का चूर्ण (Black Pepper Powder) 1 ग्राम मात्रा में छाछ के साथ सुबह-शाम सेवन करने से एक सप्ताह में पेट के कीड़े होने की बीमारी में लाभ मिलता हैं |
  • मक्खन और कालीमिर्च का पाउडर तथा मिसरी मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से स्मरणशक्ति (मेमोरी पॉवर ) बढती है।
  • खाना खाने की बाद सोंठ, कालीमिर्च और पिपली इन तीनो का पाउडर आधा चम्मच की मात्रा में लेने यह खाना हजम करने में सहायता करती है |
  • अगर आधे सिर में दर्द (Migraine Headache) हो तो 30 ग्राम देशी घी में 12 ग्राम कालीमिर्च का ताज़ा पिसा हुआ पाउडर डालकर खायें |
  • अगर आप दांतों में होने वाले पायरिया से परेशान हैं और दांत भी कमजोर हैं तो कालीमिर्च को नमक के साथ मिलाकर दांतों पर लगाएं, जल्दी ही ठीक हो जायेगा |
  • लो ब्लड प्रेशर में दिन में दो-तीन बार 21 दाने किशमिश के और पांच दाने काली मिर्च का सेवन करें |
  • नींबू के टुकडों से बीज निकालकर इसमें पिसा काला नमक और कालीमिर्च पाउडर भर कर गर्म कर के लेने से बदहजमी में लाभ मिलता है |