newsdog Facebook

हरियाणा: अब तक की बड़ी ख़बरें

Eenadu India 2018-01-13 19:11:00

क्लिक कर देखें वीडियो


चंडीगढ़। पेश हैं हरियाणा की 5 बड़ी खबरें। आज की सबसे बड़ी खबर ये है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि हरियाणा विधानसभा के आगामी चुनाव, 2019 में अपने तय वक्त पर ही होंगे।

वहीं दूसरी ओर जिस तरह से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने सैंकडो कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ आज यमुना नगर जिले से अपनी साईकल यात्रा की शुरुआत की है, उसे भी न्यूज़ बुलेटिन में खास स्थान दिया गया है। इसके अलावा अरविंद केजरीवाल की हरियाणा विधानसभा में शिरकत की खबर भी आज के इस खास बुलेटिन में शामिल की गई है। आप ये भी जान पाएंगे कि कैसे चंडीगढ़ को ही भारत के एकमात्र खूबसूरत शहर का दर्जा दिया गया है? और पद्मावती से पद्मावात हुई फिल्म पर अभी भी क्यूं नहीं रुक रहा बयानबाज़ी का दौर, इसे भी आज के बुलेटिन में जगह दी गई है।

युवा दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे सीएम मनोहर लाल ने विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है। सेक्टर 1 के सरकारी कॉलेज के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए सीएम ने कहा कि हरियाणा विधानसभा के आगामी चुनाव, 2019 में अपने तय वक्त पर ही होंगे। एक सवाल के जवाब में सीएम मनोहर लाल ने कहा कि 2018 में विधानसभा चुनाव करने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता।

कांग्रेस के प्रदेशाद्यक्ष अशोक तंवर ने सैंकडो कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ आज यमुना नगर जिले से अपनी साईकल यात्रा की शुरुआत की ! इस दौरान अशोक तंवर ने कल गिरफ्तार हुए एनएसयूआई के प्रदेश अध्य्क्ष की गिरफ्तारी को लेकर भी बेबाक़ अंदाज़ में सवालों के जवाब दिए। तंवर ने बीजेपी पर जमकर जुबानी हमला बोलते हुए कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ होना तय है।

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मिशन हरियाणा की राह पर चल पड़े हैं। हरियाणा में 2019 में विधानसभा चुनाव होने हैं। आपको बता दें कि केजरीवाल ने मिशन हरियाणा की शुरुआत के लिए मकर सक्रांति को चुना है।

'द सिटी ब्यूटीफुल' का हर कोई दीवाना है, और अब इसकी अहमियत और बढ़ गई है। अमेरिका के प्रसिद्ध अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने टूरिज्म के लिए दुनिया के टॉप 52 शहरों की एक सूची तैयार की है, जिसमें पूरे भारत से सिर्फ चंडीगढ़ शहर का नाम दर्ज किया गया है।

सेंसर बोर्ड से 'पद्मावती' फिल्म का नाम बदलकर 'पद्मावत' हो जाने के बाद भी फिल्म पर राजनीति जारी है। ऐसा लगता है कि 'पद्मावती' फिल्म एक बहती गंगा है और इसमें कोई भी डुबकी लगाने का मौका हाथ से जाने नहीं देना चाहता।