newsdog Facebook

बॉलीवुड के मशहूर विलेन प्राण ने पिता से छिपाई थी एक्टिंग की बात

Newsroom Post 2018-02-12 17:27:41


प्राण कृष्ण सिकंद, जिन्हें प्राण के नाम से जाना जाता है, वह हिंदी सिनेमा के सबसे खतरनाक खलनायकों में से माने जाते हैं। अभिनेता ने अपने करियर के दौरान हीरो, खलनायक और सहायक अभिनेता की भूमिका निभाई। प्राण ने 350 फिल्मों में अभिनय किया और हिंदी सिनेमा में उनके योगदान के लिए कई पुरस्कार और सम्मान प्राप्त किए। उन्हें 2001 में पद्म भूषण और 2013 में ददासहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

12 फरवरी 1920 को पैदा हुए, प्राण पाकिस्तान में पले बढ़े और 14 अगस्त, 1947 को मुंबई में चले गए। वे एक फोटोग्राफर बनना चाहते थे लेकिन उनकी किस्मत उन्हें फिल्म उद्योग में लेकर आई। उन्होंने 1940 में एक पंजाबी फिल्म यमला जाट में अपनी पहली भूमिका हासिल की। अभिनेता का 12 जुलाई, 2013 को 93 वर्ष की आयु में दीर्घ बीमारी के बाद निधन हो गया था।

प्राण के जन्मदिन पर जानिए कुछ दिलचस्प तथ्य –

प्राण ने अपने पिता को अपने अभिनय करियर के बारे में नहीं बताया था। जिस अखबार में उनका पहला इंटरव्यू छपा था, प्राण ने अपनी बहन से उसे छिपाने के लिए कहा था।

प्राण ने राज कपूर की बॉबी पर 1 रुपये की साइनिंग अमाउंट पर हस्ताक्षर किए थे।

वह राजेश खन्ना के बाद दूसरे सबसे महंगे एक्टर थे।

देव आनंद के बाद, राज कुमार और धर्मेंद्र ने प्रकाश मेहरा की जंजीर को रिजेक्ट कर दिया था, प्राण ने भूमिका के लिए अमिताभ बच्चन की सिफारिश की थी।

मुंबई आने से पहले, 22 फिल्मों में खलनायक का रोल कर चुके थे।

प्राण अपने मेकअप आर्टिस्ट और विग मेकर को घर बुलाते थे, जो उनके लुक्स पर काम करते थे।

प्राण ने कहा कि विभाजन के दौरान पलायन करते समय वह जो सबसे कीमती चीज उन्होंने खोई वह उनका पालतू कुत्ता ता।

लंबे समय तक खलनायक का रोल करने के बाद, उन्होंने मनोज कुमार की 1967 की फिल्म उपकार में एक विकलांग व्यक्ति की सकारात्मक भूमिका निभाई।

उन्होंने लव लव-कुश फिल्म में ऋषि वाल्मीकि का एक पौराणिक चरित्र भी किया।

प्राण की बॉम्बे डायनेमोस फुटबॉल क्लब नामक अपनी फुटबॉल टीम भी थी।