newsdog Facebook

Shilpa Shetty के ट्रेनर ने खोला राज, योगा से नहीं ऐसे घटाया 32 किलो वजन

Janta Se Rishta 2018-02-13 15:35:10


जनता से रिश्ता / वेबडेस्क !! नई दिल्ली: शिल्पा शेट्टी ने ना सिर्फ प्रेग्नेंसी के बाद वजन घटाया बल्कि खुद को पहले से कई बेहतर शेप में भी लेकर आईं. प्रेग्नेंसी के बाद ज़्यादातर महिलाएं अपने बच्चे और घर की देखभाल करते-करते खुद को भूल जाती हैं, जिस वजह से ना सिर्फ उनका वजन बढ़ता है बल्कि उनका आत्मविश्वास भी कम होता जाता है.
लेकिन शिल्पा शेट्टी का ये ट्रांसफॉर्मेशन सभी महिलाओं के किसी प्रेरणा से कम नहीं. यहां उनके ट्रेनर विनोद चन्ना से जानिए कि उन्होंने शिल्पा शेट्टी का पोस्ट-प्रेग्नेंसी वजन कैसे कम किया.
शिल्पा और उनकी ट्रेनिंग
शिल्पा शेट्टी के ट्रेनर विनोद चन्ना के मुताबिक ”शिल्पा ने अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान 32 किलो वजन बढ़ाया था. इसके साथ ही उन्हें नेक, लोअर बैक और घुटनों में दर्द कि शिकायत भी थी. वहीं, बच्चे के जन्म के बाद उनकी इनर बॉडी भी थोड़ी वीक हो गई थी. इसीलिए उनके लिए सबसे जरूरी था शिल्पा कि इन परेशानियों पर पहले गौर करना. इसके लिए उन्होंने पहले उनकी कमजोर मसल्स और जॉइंट्स पर काम किया, उसके बाद वजन पर आए. उनके मुताबिक अगर वो ऐसा नही करते तो शिल्पा के मसल्स और जॉइंट्स डिसलोकेट हो सकते थे.”   आगे कहा ”पहले फेज में उन्होंंने शिल्पा को लोअर बैक वर्कआउट कराया, जिससे वो फ्लेक्सिबल और मजबूत बन सके. घुटनों के लिए इनर थाई, आउटर थाई, ग्लूट्स और ट्रांसवर्स ऑब्लिक जैसी सपोर्ट करने वाली मसल्स पर काम किया. इन मसल्स की मदद से ही घुटनों और लोअर बैक से जल्दी फैट कम करने में मदद मिलती है, वो भी बिना किसी मसल्स और जॉइंट्स को नुकसान पहुंचाए.
इसके साथ ही विनोद और शिल्पा ने कई योगा से इंस्पायर्ड एक्सरसाइज और एनिमल फ्लो एक्सरसाइज भी की. इनसे बॉडी पॉश्चर और मूवमेंट में काफी मदद मिली. इसके अलावा इन एक्सरसाइज से प्रेग्नेंसी के बाद होने वाले जोड़ों के दर्द में भी आराम मिलता है.
इसके बाद, उन्होंने बॉडी वेट ट्रेनिंग और कोर एक्सरसाइज कराई, इसे शिल्पा ने पहले कभी नहीं किया था. फंक्शनल ट्रेनिंग, योगा और बाकि एक्सरसाइज की मदद से शिल्पा शेट्टी 3.5 महीनों में 32 किलो कम कर पाईं.
शिप्ला शेट्टी के इस ट्रांसफॉर्मेशन को नच बलिए सीजन 1 के पहले और आखिरी एपिसोड को मिलाकर देखा जा सकता है.
आगे विनोद ने कहा कि ”सही गाइडेंस और डेडिकेशन कि मदद से सब कुछ मुमकिन है और मेरा मानना है कि घरों कि महिलाएं अगर फिट रहे तो वो पूरे परिवार को और भी फिट और हेल्दी रख सकती हैं.”