newsdog Facebook

अबू धाबी के क्राउन प्रिंस के 'जय सिया राम' कहने वाले वायरल वीडियो का सच क्या है?

Outlook 2018-02-13 00:00:00
“भारत के मीडिया हाउस एक बार फिर 'फेक न्यूज' के चक्कर में पड़ गए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के यूएई दौरे के...” “भारत के मीडिया हाउस एक बार फिर 'फेक न्यूज' के चक्कर में पड़ गए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के यूएई दौरे के...”

भारत के मीडिया हाउस एक बार फिर 'फेक न्यूज' के चक्कर में पड़ गए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के यूएई दौरे के दौरान 'टाइम्स नाऊ' ने एक खबर की। टाइम्स नाऊ ने अपनी खबर में बताया कि अबू धाबी के क्राउन प्रिंस को स्टेज पर जब अपने विचार रखने के लिए बुलाया गया तब उन्होंने भाषण की शुरुआत 'जय सिया राम' से की, जिससे सामने पब्लिक खुश हो गई।

टाइम्स नाऊ ने कहा कि अब जबकि अबू धाबी पीएम मोदी के स्वागत के लिए तैयार है, यहां के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मज बिन जाएद अल नाहयान का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर फिर से सर्कुलेट हो रहा है।

आल्ट न्यूज की पड़ताल के मुताबिक, टाइम्स नाऊ ने जिस अबू धाबी का क्राउन प्रिंस बताया है वह कोई और है। यह वीडियो मोरारी बापू की राम कथा का है। वीडियो की शुरुआत में इस शख्स का नाम शेख सुल्तान बताया गया है।

वीडियो में दिख रहे शख्स का पूरा नाम सुल्तान सूद अल कासमी है, जो यूनाइटेड अरब अमीरात के एक स्तंभकार हैं।

बाद में कई मीडिया हाउस ने इस खबर को क्रॉस चेक किए बगैर उठा लिया।

  

हालांकि टाइम्स नाऊ ने अपनी स्टोरी में सुधार कर लिया है, लेकिन तब तक इसे हजारों लोग रीट्वीट और शेयर कर चुके थे। भारतीय मीडिया की इस हरकत पर गल्फ न्यूज ने फटकार लगाई है। उसने इसे प्रोपेगैंडा बताया है।

नई दिल्ली में यूएई के दूतावास ने भी इस वायरल वीडियो क्लिप को भारतीय मीडिया का प्रोपेगैंडा बताया है।

वीडियो देखें-