newsdog Facebook

मुंबई-कर्नाटक रीजन LIVE: बराबरी का हुआ मुकाबला, कांग्रेस और बीजेपी दोनों 23-23 सीटों पर आगे

ABP News 2018-05-15 09:30:00

Mumbai-Karnataka Region, Karnataka Election Result LIVE Updates: शुरुआती रुझानों में बीजेपी ने बढ़त बना रखी है. इस रीजन में 2013 के चुनाव में कांग्रेस को बड़ी कामयाबी मिली थी.

मुंबई-कर्नाटक रीजन रिजल्ट 2018 Live Updates: कर्नाटक की 222 विधानसभा सीटों पर हुए चुनाव के शुरुआती रुझान आने शुरू हो गए हैं. नतीजे घोषित होने के साथ ही कर्नाटक का नया सीएम कौन होगा इस सवाल का जवाब भी मिल जाएगा. सरकार बनाने के लिए जरूरी 113 सीटों में बॉम्बे-कर्नाटक रीजन की 50 विधानसभा सीटें बेहद ही महत्वपूर्ण हैं.


मुंबई- कर्नाटक रीजन रिजल्ट 2018/ कर्नाटक विधानसभा रिजल्ट लाइव अपडेट


09:28 AM: कांग्रेस और बीजेपी में मुकाबला बराबरी का हो गया है. कांग्रेस और बीजेपी दोनों 23-23 सीटों पर आगे चल रही हैं.


09:14 AM:  पहली बार कांग्रेस ने बढ़त बना ली है. कांग्रेस 25 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि बीजेपी 21 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.


09:05 AM: कांग्रेस अब 21 सीटों पर आगे हो गई है, जबकि बीजेपी की बढ़त लगातार कम हो रही है. बीजेपी 22 सीटों पर आगे चल रही है.


08:58 AM: कांग्रेस ने एक बार फिर वापसी की है. कांग्रेस 20 सीटों पर आगे हो गई है, जबकि बीजेपी 23 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.


08:54 AM: मुंबई कर्नाटक रीजन में बीजेपी अपनी बढ़त बनाए हुए है. पहले घंटे के रुझानों के बाद बीजेपी 24 सीटों पर आगे है, जबकि कांग्रेस 18 सीटों पर बढ़त कायम रखे हुए है. 


08:34 AM: बीजेपी अब 24 सीटों पर आगे हो गई है, जबकि कांग्रेस 18 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.


08:29 AM: कांग्रेस ने जबरदस्त वापसी की है. अब कांग्रेस ने शुरुआती रुझानों में 17 सीटों पर बढ़त बना ली है, जबकि बीजेपी 20 सीटों पर आगे है.


08:23 AM: मुंबई-कर्नाटक रीजन में शुरुआती रुझानों में बीजेपी अपनी पकड़ मजबूत बना रही है. बीजेपी अब 12 सीटों पर आगे है, जबकि कांग्रेस ने 6 सीटों पर बढ़त मिली है.


08:15 AM: बीजेपी ने वापसी करते हुए 2 सीटों पर बढ़त बना ली है. वहीं कांग्रेस को शुरुआती रुझानों में अब तक एक सीट मिली है.


08:14 AM:  शुरुआती रुझान में कांग्रेस को बढ़त मिली है. पहला रुझान कांग्रेस के पक्ष में गया है तो वहीं बीजेपी का खाता खुलना अभी बाकी है.


07:27 AM: चूंकि इस बार येदियुरप्पा बीजेपी में लौट आये हैं. इसलिए पिछली बार की स्थिति में बदलाव देखने को मिल सकता है. इस बार मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच है. बीजेपी उम्मीद कर रही है कि येदियुरप्पा के आने से लिंगायतों का वोट उन्हें मिलेगा. जबकि कांग्रेस का मानना है कि इस बार अलग धर्म के फैसले से लिंगायत उनके पक्ष में वोट करेंगे. बता दें कि इस इलाके में बेलगावी, हुबली-धारवाड़, बागलकोट, विजयपुरा और गदग ज़िले आते हैं. यहां सूखा, किसानों की आत्महत्या, महदायी नदी से गोवा का पानी नहीं छोड़ना, गन्नों के सही दाम नहीं मिलना जैसे कई मुद्दे भी हैं.


07:26 AM:  बॉम्बे-कर्नाटक रिजन को वैसे तो लिंगायतों का गढ़ कहा जाता है. 2013 में कांग्रेस की सत्ता वापसी के पीछे बॉम्बे-कर्नाटक को बड़ा कारण बताया जाता है. यहां 50 सीटों में से कांग्रेस 31 सीटें जीतने में कामयाब रही. दरअसल 2013 के चुनाव में यहां त्रिकोणीय मुकाबला था. येदियुरप्पा को भ्रष्टाचार के आरोप में पार्टी से निकाल दिया गया था जिसके बाद उन्होंने अलग पार्टी बनाकर चुनाव लड़ा था. इस सीट पर येदियुरप्पा की पार्टी कर्नाटक जनता पक्ष, बीजेपी और कांग्रेस के बीच टक्कर थी. येदियुरप्पा लिंगायतों के बड़े नेता माने जाते हैं. ऐसे में लिंगायत वोट तीन हिस्सों में बंट गया था जिसका सीधा फायदा कांग्रेस को हुआ.