newsdog Facebook

आईटीआई पास होने पर भी मिलेगा 10वीं और 12वीं का दर्जा, बस करना होगा यह काम

Patrika 2018-05-16 16:47:31

राजकीय औद्योगिक ट्रेनिंग संस्थान के प्रधानाचार्य विनोद कुमार ने बताया कि आईटीआई से पास होने 10वीं और 12 वीं का दर्जा मिलेगा।

हरदोई. राजकीय औद्योगिक ट्रेनिंग संस्थान के प्रधानाचार्य विनोद कुमार ने बताया कि आईटीआई से पास होने 10वीं और 12 वीं का दर्जा मिलेगा। इसके लिए बस ITI में शिक्षा के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी को कक्षा 8 एवं कक्षा 10 से आईटीआई प्रवेश लेकर एक विषय हिन्दी से व्यक्तिगत प्रशिक्षार्थी के रूप में परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। पास होने पर उसकी शैक्षिक योग्यता क्रमश : कक्षा 10 व 12 के समकक्ष मानी जायेगी। इस प्रकार आईटीआई पास कर उच्च शिक्षा के लिए भी पात्र होगें।

आवेदन करने की अतिंम तिथि 25 मई

प्रिंसिपल विनोद कुमार ने बताया कि ITI में प्रवेश के लिए आवेदन करने की अतिंम तिथि 25 मई है। आवेदन विभागीय वेबसाइट वीपीपीयूपी.इन तथा एससीवीटी.इन पर आनलाइन शुरू हो चुके है। प्रधानाचार्य विनोद कुमार ने अवगत कराया कि विगत 14 मई को आईटीआई चलों अभियान के आठवें दिन संस्थान के कर्मचारी राबिया अजरा खातून, स्नेहलता, अशोक कुमार, रामेष्वर प्रसाद, मोती लाल, अब्दुल राफे द्वारा ब्लाक सुरसा, बेनीगंज, कोथावां, बेंहदर, सण्डीला के जीजीआईसी इण्टर कालेज, लाल बहादुर कालेज, रफ़ि अहमद इका, सीबीजी इण्टर कालेज बेनीगंज, रामशकर इका ममरेजपुर, मीराबाई सरस्वती विद्या मंदिर सकलाला तथा राजकीय बालिका कालेज सण्डीला में शिविर लगाकर उक्त जानकारी दी गई और अन्य स्थानों पर शिविर लगाकर आईटीआई शिक्षा के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

कार्यालय का जेम पोर्टल पर पंजीकरण अनिवार्य

उधर सहायक आयुक्त जिला उद्योग केन्द्र आशीष गुप्ता ने समस्त विभागों के कार्यालयाध्यक्षों से कहा है कि शासन के निर्देषानुसार अपने विभाग कार्यालय का जेम पोर्टल पर पंजीकरण अनिवार्य रूप से करा लें तथा जेम प्रणाली के अन्तर्गत एक क्रय केन्द्र पर 3 व्यक्तियों की भूमिका होती है। जिनमें बायर, कन्साइनी तथा भुगतान अभिकर्ता और इनमें बायर व कन्साइनी एक ही व्यक्ति हो सकते है। आहरण एवं वितरण अधिकारी उनसे भिन्न व्यक्ति होता है। उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि अपने कार्यालय का पंजीयन कराने के उपरान्त उद्योग केन्द्र कार्यालय को उपलब्ध कराए ताकि जिलाधिकारी की होने वाली बैठक में प्रगति को संकलित कर प्रस्तुत किया जा सकें।