newsdog Facebook

यहां मिलता है सबसे महंगा डीजल-पैट्रोल पर फिर भी लगी रहती है ग्राहकों की कतार

Patrika 2018-05-17 09:09:34

ग्राहकों की कतार लगी

जबलपुर. बुधवार को डीजल का दाम रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। डीजल ७०.१६ रुपए प्रति लीटर हो गया जोकि सबसे महंगा रेट रहा। पेट्रोल भी २० पैसे बढ़कर ८०.७३ रुपए लीटर हो गया। डीजल के दामों में आग लगने के बाद भी ग्राहकोंं की कमी नहीं हुई। पैट्रोल पंपों पर रोज की तरह ग्राहकों की कतार लगी रही। हालांकि डीजल के दामों में इतनी ज्यादा वृद्धि का असर जल्द ही दिखाई देने की आशंका है क्योकि डीजल रोजमर्रा के अनेक कामों मं ें उपयोग होता है। बाजार के जानकार बताते हैं कि डीजल मूल्यवृद्धि बहुत खतरनाक है ओर इससे आमजन का प्रभावित होना तय है। इसका सीधा असर वस्तुओं की कीमत पर पड़ सकता है। इससे महंगाई फिर बढ़ सकती है।

पेट्रोल की तरह अब डीजल के दाम भी तेजी से बढ़ रहे हैं। ग्राहकों ने बुधवार को वाहनों में ईंधन भरवाया तो उन्हें मंगलवार की तुलना में कुछ प्वाइंट कम डीजल या पेट्रोल मिला। आकलन करने वालों ने पम्प कर्मियों से पूछा तो उन्होंने बोर्ड में बढे़ हुए दामों की तरफ इशारा किया। डीजल का दाम बढऩे का सबसे ज्यादा असर परिवहन पर पड़ता है। ट्रक, ऑटो और बस चालकों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। कारोबारियों को भी ज्यादा भाड़ा देना पड़ रहा है। इसका सीधा असर वस्तुओं की कीमत पर पड़ सकता है। इससे महंगाई फिर बढ़ सकती है। पेट्रोलियम जगत से जुडे़ जानकारों ने बताया, सितम्बर २०१३ में जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत १४६ डालर प्रति बैरल थी, तब शहर में पेट्रोल की और डीजल की कीमत क्रमश: ७९ रुपए और ५६.४९ रुपए प्रति लीटर थी। उनका यह भी कहना है कि वर्तमान में क्रूड ऑयल की कीमत ७० और ७५ डॉलर प्रति बैरल होने ने के बाद भी पेट्रोल की कीमत ८१ रुपए के करीब पहुंच गई है। डीजल के दाम ७० रुपए लीटर से ऊपर हैं।