newsdog Facebook

अवैध बिजली लाइन खींचने के मामले में जेईएन निलम्बित

Patrika 2018-05-17 11:51:34

डिस्कॉम अधिकारियों की कार्यशैली पर खड़े हुए सवालिया निशान- चार दिन पहले नागौर डिस्कॉम एक्सईएन ने की थी कार्रवाई, अजमेर एमडी भामू ने किया निलम्बित

नागौर. जिले के कुचेरा क्षेत्र में चार दिन पहले पकड़े गए बिजली की अवैध लाइन खींचने के मामले में जेईएन की भूमिका संदिग्ध होने पर अजमेर डिस्कॉम के एमडी बीएम भामू ने उसे निलम्बित कर दिया है। सूत्रों के अनुसार अवैध रूप से खींची जा रही करीब 200 मीटर लम्बी बिजली लाइन की शिकायत मिलने पर एमडी ने नागौर एक्सईएन आरबी सिंह को कार्रवाई के निर्देश दिए थे। यह भी सामने आया है कि शिकायत करने वाले ने एमडी को बताया था कि अवैध लाइन खींचने में जेईएन भूराराम की संलिप्तता है। इसके चलते डिस्कॉम अधिकारियों ने सम्बन्धित व्यक्ति (जिसके लिए लाइन खींची जा रही थी) व ठेकेदार के साथ जेईएन के खिलाफ भी कुचेरा थाने में मामला दर्ज कराया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए एमडी ने जेईएन को निलम्बित कर दिया है, लेकिन इस पूरे घटनाक्रम ने डिस्कॉम अधिकारियों की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं। दबी जुबान में कुछ ईमानदारी अधिकारी इस बात को स्वीकार भी कर रहे हैं कि इतने बड़े स्तर का काम किसी अधिकारी या कर्मचारी की मिलीभगत के नहीं हो सकता, जिसमें पांच पोल, दो तार के बंडल, ट्रांसफार्मर सहित अन्य सामान आरोपित को उपलब्ध कराया गया हो।
पहले चोरी, फिर कार्रवाई का डंका
गौरतलब है कि जिले में बिजली चोरी रोकने एवं छीजत कम करने का दबाव पडऩे पर दिसम्बर व जनवरी में जिले के डिस्कॉम अधिकारियों ने सैकड़ों किलोमीटर अवैध लाइनें उखाड़कर ट्रांसफार्मर जब्त किए थे। कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। कुछ जगह डिस्कॉम अधिकारियों को ग्रामीणों का विरोध भी झेलना पड़ा था। विरोध का मूल कारण यह था कि जिन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई, उन्होंने डिस्कॉम का सारा सामान रुपए देकर खरीदा था। इसमें डिस्कॉम के अधिकारियों की ही मिलीभगत थी। हालांकि खुले रूप से कोई व्यक्ति सामने नहीं आया, इसलिए अधिकारी कार्रवाई का डंका पीटते रहे, लेकिन कुचेरा की कार्रवाई ने अधिकारियों की काफी हद तक पोल खोल दी है।

 

पूरी जांच हो तो खुलेंगे कई राज
गौरतलब है कि गत 13 मई को कुचेरा के संसारनाडा फीडर से हड़मानराम पुत्र रामपाल मुण्डेल के खेत पर ठेकेदार कृपाराम की सहायता से चार स्पान लगभग 200 मीटर की अवैध लाइन खींचने व डीपी लगाने का काम चोरी के तार व सामान से किया जा रहा था, जिसे नागौर डिस्कॉम एक्सईएन आरबी सिंह ने विद्युत चोरी निरोधक थाना नागौर के थानाधिकारी चांद खां के साथ पकड़कर हड़मानराम व ठेकेदार के खिलाफ कुचेरा थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया। साथ ही सम्बन्धित जेईएन भूराराम के खिलाफ भी मामला दर्ज कराया था। मूण्डवा के सहायक अभियंता भंवर चौधरी ने अवैध लाइन खींचने में काम लिए जा रहे 5 पोल, 2 बंडल तार व अन्य सामान जब्त किया था। इस मामले की जांच एमडी स्तर पर करवाई जा रही है। इस मामले में जांच का विषय यह भी है कि हड़मान राम को बिजली के पोल, तार व ट्रांसफार्मर सहित अन्य सामान किसने उपलब्ध कराया। ऐसे ही पिछले दिनों जहां-जहां डिस्कॉम अधिकारियों ने अवैध लाइनें हटाई हैं, उनकी भी यदि जांच की जाए तो कई अधिकारी नप जाएंगे।