newsdog Facebook

बंगाल निकाय चुनाव में ऐतिहासिक जीत के करीब TMC, बीजेपी से पिछड़ीं लेफ्ट पार्टियां

Khabarnwi 2018-05-17 13:00:00

14 मई को पश्चिम बंगाल में हुए पंचायत चुनाव की मतगणना चल रही है। चुनावों में हुई हिंसा को देखते हुए मतगणना स्थलों पर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है। सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस 4500 ग्राम पंचायत सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

पंचायत चुनाव की 31,814 सीटों में से अब तक त्रिणमूल कांग्रेस (TMC) ने 110 सीटें जीत ली हैं, जबकि 1208 सीटों पर आगे चल रही है. वहीं भाजपा ने 4 सीटें जीती हैं और 81 पर आगे है। इसी तरह सीपीआईएम ने 3 सीटों पर कब्जा जमा लिया है और 58 सीटों पर आगे चल रही है।

सुरक्षा के लिहाजा सभी 291 मतगणना केन्द्रों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। आपको बता दें कि 14 मई को पश्चिम बंगाल में 621 जिला परिषदों, 6,123 पंचायत समितियों और 31,802 ग्राम पंचायतों के लिए मतदान हुआ था। पंचायत चुनाव के दौरान राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) को जिन 568 मतदान केन्द्रों पर हिंसा की शिकायतें मिली थीं, वहां 16 मई को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच फिर से मतदान कराए गए थे।

सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पुलिस ने जलपाईगुड़ी पॉलीटेक्निक के मतगणना स्थल से 40 फोन सीज किये।

#WestBengal: Police has seized 40 mobile phones from a counting centre set up at Jalpaiguri's Polytechnic Institute.#PanchayatElection pic.twitter.com/Hh2x1Df0RR

— ANI (@ANI) May 17, 2018

16 मई को हुगली में 10 मतदान केन्द्रों, पश्चिम मिदनापुर में 28 मतदान केन्द्रों, कूचबिहार में 52 मतदान केन्द्रों, मुर्शिदाबाद में 63 मतदान केन्द्रों, नादिया में 60 मतदान केन्द्रों, उत्तर 24 परगना में 59 मतदान केन्द्रों, मालदा में 55 मतदान केन्द्रों , उत्तर दिनाजपुर में 73 मतदान केन्द्रों और दक्षिण 24 परगना में 26 मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान कराया गया था।

इसे भी पढ़ें-: कभी चावल मिल में क्लर्क की नौकरी करने वाले येदियुरप्पा कैसे बने कर्नाटक के मुख्यमंत्री?

जानकारी के मुताबिक, 48,650 ग्राम पंचायत सीटों में से 16,814 सीटें इस बार खाली रह गईं। पंचायत समिति की कुल 9,217 सीटों में से 3509 सीटों पर पर्चा नहीं भरा गया। वहीं जिला परिषद की 825 सीटों में से 203 सीटों पर उम्मीदवार खड़े नहीं हुए थे।