newsdog Facebook

भाजपा सरकार में तीसरा उपमुख्यमंत्री! अखिलेश ने बताया ऐसा नाम जो कर देगा सभी को हैरान

Patrika 2018-11-06 18:05:33

आगरा। दीपावली से पहले अखिलेश के तंज बड़ा धमाका करते हैं। कुछ ऐसा ही बाह में देखने को मिला। पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बाह बटेश्वर में बाबा ब्रह्मलाल जी के महादेव के दर्शन किए साथ ही उन्होंने बाह विधानसभा से लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भी निशाना साधा। पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने स्थानीय विधायक रानी पक्षालिका सिंह पर जमकर निशाना साधा। भाजपा की ये विधायक कभी समाजवादी पार्टी सरकार में दर्जा प्राप्त मंत्री थी। आगरा में वे पहली महिला थी, जिन्हें अखिलेश यादव ने लालबत्ती दी थी। वहीं उस समय उनके पति राजा अरिदमन सिंह सपा से बाह के विधायक थे। लेकिन, विधानसभा चुनाव 2017 के पहले दोनों सपा की साइकिल से उतर गए और भगवा खेमे में शामिल हो गए।

अखिलेश बोले तीसरा उपमुख्यमंत्री हो बाह से
समाजवादी पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मंगलवार को बाह विधानसभा क्षेत्र के बटेश्वर मंदिर पहुंचे। यहां उन्होंने पहले मंदिर में दर्शन किए। उनके साथ उनके भाई सांसद धर्मेंद्र यादव और पुत्र भी पहुंचे। पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने यहां पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत की, उन्होंने तंज कसा कि भाजपा सरकार में तीसरा उपमुख्यमंत्री भी होना चाहिए। जब सपा की सरकार थी तब मंत्री बनाया गया था। उनका निशाने पर बाह विधानसभा की वर्तमान विधायक रानी पक्षालिका सिंह और उनका परिवार रहा। बता दें कि अखिलेश सरकार में रानी पक्षालिका सिंह को लालबत्ती मिली थी। वहीं सपा सरकार के शासन के दौरान अखिलेश यादव ने करोड़ों रुपये के विकासकार्य बाह विधानसभा क्षेत्र में स्वीकृत कराए थे। अखिलेश यादव के बेहद करीबियों में राजा अरिदमन सिंह और रानी पक्षालिका सिंह की पहचान थी।

कोआॅपरेटिव बैंक का चेयरमैन बन रहे थे पूर्व मंत्री
बाह विधानसभा क्षेत्र से तत्कालीन विधायक राजा अरिदमन सिंह को कोआॅपरेटिव बैंक का चेयरमैन बनाया था। सपा सरकार में अखिलेश यादव ने पूर्व विधायक के क्षेत्र के लिए खजाना खोल दिया था। अखिलेश यादव सरकार में बाह विधानसभा क्षेत्र में सपा कार्यकर्ताओं और भाजपा कार्यकर्ताओं में जमकर संघर्ष भी हुए थे, जिसमें सपा कार्यकर्ताओं का दबदबा हावी रहा था। मंगलवार को अखिलेश यादव का दर्द छलका और उन्होंने वर्तमान विधायक की खिंचाई की। अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में जब दो उपमुख्यमंत्री हैं तो तीसरा भी हो सकता है। वे चाहते हैं कि तीसरा उपमुख्यमंत्री बाह या बटेश्वर से हो।