newsdog Facebook

पटाखों ने दिल्ली में फैलाया इतना प्रदूषण कि पीएम 10 और पीएम 2.5 मापने वाली मशीन 999 पर अटक गई

Gyan Hi Gyan 2018-11-08 13:45:08

पटाखों ने दिल्ली में फैलाया इतना प्रदूषण कि पीएम 10 और पीएम 2.5 मापने वाली मशीन 999 पर अटक गई

दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा पटाके फोड़ने की समयसीमा के बाद भी दिल्ली एनसीआर में इतने पटाखे फोड़े गए कि दिल्ली में वायु प्रदूषण की मेजरमेंट मशीन भी अटक गई. क्योंकि ये मशीनें सिर्फ तीन डिजिट तक ही मेजरमेंट रेकॉर्ड कर सकती हैं लेकिन दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण 1 हजार के स्तर को पार कर गया है. दिल्ली में 95 प्रतिशत लोकेशन ऐसी थी जिसमें रात 1 बजे तक वायु प्रदूषण 999 दिखा रहा था जिसका सीधा मतलब है कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर 1 हजार से उपर जा चुका था. इसमें जो मशीने वायु प्रदूषण का स्तर 500 और 1 हजार तक रेकॉर्ड कर सकती हैं वो आधी रात को ही 500 और 1 हजार पर अटक गई हैं.


गुरुवार यानी आज दिल्ली के कई इलाकों में वायु प्रदूषण का जानलेवा स्तर देखा गया है जिसके चलते दिल्ली में एयर क्वॉलिटी बहुत खराब रही. दिल्ली में आनंद विहार, मेजर ध्यानचंद स्टेडियम, अमेरिकी दूतावास, चाणक्यपुरी, पड़पड़गंज, शाहदरा, झिलमिल, दिलशाद गार्डन, करोल बाग, आरकेपुरम, पंजाबी बाग, द्वारका सहित कई इलाकों में एयर क्वॉलिटी बेहद खराब रही. हालात ये हैं कि इन इलाकों में पीएम 10 या 2.5 की मात्रा सुबह 9 बजे के बाद भी 999 पर अटकी हुई है. क्योंकि मशीन 4 डिजिट में मेजरमेंट रेकॉर्ड नहीं कर सकती इसलिए जबतक ये मेजरमेंट 999 से नीचे नहीं आएगा तक तक मशीन 999 ही दिखाएगी.

दिल्ली-एनसीआर के लोगों को दिवाली की अगली सुबह यानी गुरुवार को बेहद खराब और जानलेवा स्थिति में सांस लेनी पड़ रही है. दिल्ली के कई इलाकों में लोग सुबह उटे तो उन्हें आंखों में जलन और सांस लेने में परेशानी महसूस हो रही थी. एयर क्वॉलिटी इंडेक्स से मिले डेटा के मुताबिक लोधी रोड पर पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर 500 था जो काफी खतरनाक होता है. इसके अलावा बिहार की राजधानी पटना और उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर दर्ज किया गया है.