newsdog Facebook

कांग्रेस ने नोटबंदी के खिलाफ बेंगलुरू में किया प्रदर्शन

RTI News 2018-11-09 19:30:42

 बेंगलुरू, 9 नवंबर | कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार की दो साल पहले की गई नोटबंदी के लिए आलोचना की और इसे मुंबई और अमेरिका में हुए 26/11 और 9/11 के आतंकवादी हमलों से भी बुरा हमला करार दिया।

  कांग्रेस ने 2016 में हुई नोटबंदी के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष दिनेश गुंडु राव ने प्रदर्शनकारियों को सिटी सेंटर पर संबोधित किया और नोटबंदी की तुलना मुंबई और वल्र्ड ट्रेड सेंटर पर हुए आतंकवादी हमलों से की और कहा, "यह हमला खुद देश के प्रधानमंत्री द्वारा किया गया था।"

कांग्रेस के कम से कम 200 समर्थक प्रदर्शन में शामिल हुए और 500 रुपये और 1000 रुपये की नोटबंदी के दिन को 'काला दिवस' करार दिया।

राव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने साल 2016 के आठ नवंबर को अचानक लिए फैसले में नोटबंदी लागू कर दी थी, जिससे आम आदमी को महीनों तक परेशानी झेलनी पड़ी।

राव ने कहा, "न सिर्फ नागरिकों को, बल्कि सरकारी बैंकों को भी कैश फ्लो की समस्याओं के कारण भारी नुकसान झेलना पड़ा है।"

उन्होंने कहा, "नोटबंदी के जो भी कारण बताए गए थे, इससे देश की अर्थव्यवस्था को कोई फायदा नहीं हुआ है। वहीं, पिछले कुछ महीनों से रुपये का मूल्य भी लगातार गिरता जा रहा है।"

यहां तक कि अंतर्राष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमत भी राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) सरकार के दौरान संप्रग (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन) की तुलना में कम है, लेकिन मोदी सरकार इसका लाभ लोगों तक पहुंचाने में असफल रही है।

उन्होंने कहा कि केवल कांग्रेस ही देश को मोदी सरकार की 'तानाशाही शासन' से बचा सकती है।