newsdog Facebook

उत्तराखंड के 10 दर्शनीय पर्यटन स्थल जो इस देव भूमि को बनाते है पर्यटकों का स्वर्ग

Punjab Kesari National 2018-12-06 16:23:49

हिमालय के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित है उत्तराखंड राज्य देव भूमि के नाम से जाना जाता है और साथ ही ये राज्य अपने धार्मिक स्थलों और प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। पर्यटन के साथ साथ ये राज्य प्राकर्तिक संपदा में भी भरपूर है।

ख़ूबसूरती के मामले में उत्तराखंड की तुलना ख़ूबसूरती के देश स्विट्ज़रलैंड से की जाती है। आज हम आपको उत्तराखंड के 10 खूबसूरत पर्यटन स्थलों के बारे में बता रहे है जो पर्यटकों के लिए बेहद खास है।

1. हेमकुण्ड साहिब

हेमकुण्ड साहिब चमोली जिले में स्थित सिक्खों का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। यह हिमालय में 4632 मीटर की ऊंचाई पर एक बर्फीली झील के किनारे सात पहाड़ियों पर स्थित है। इस स्थान का उल्लेख गुरु गोविन्द सिंह द्वारा रचित दसम ग्रन्थ में आता है।

2. केदारताल

मध्य हिमालय के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित यह ताल नैसर्गिक सौन्दर्य का विशिष्ट उदाहरण है। जोगिन पर्वत श्रंखला के कुछ ग्लेशियरों ने अपने जल से पवित्र केदारताल का निर्माण किया है जो समुद्र तल से 15 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है।

3. फूलों की घाटी

उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित फूलों की घाटी नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान का एक भाग है जिसे यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया है। यहाँ फूलों की लगभग 300 से अधिक प्रजातियाँ देखने को मिलती हैं।

4. लैंसडाउन

ब्रिटिश शासन में यह नगर एक सैनिक छावनी थी जिसे अंग्रेजों ने पहाड़ी को काटकर बसाया था। समुद्र तल से 1706 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस खूबसूरत नगर का मौसम सालभर सुहाना बना रहता है।

5. केदारनाथ

हिन्दुओं का यह पवित्रतम स्थल उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है। यहाँ भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक ज्योतिर्लिंग स्थित है जो साल भर बर्फ से ढंका रहता है। हर साल लाखों श्रद्धालु केदारनाथ की यात्रा पर जाते हैं।

6. जिम कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान

1936 में स्थापित भारत का यह पहला राष्ट्रीय उद्यान उत्तराखंड के नैनीताल जिले में स्थित है। प्रोजेक्ट टाइगर के अंतर्गत सबसे पहले जिम कार्बेट को शामिल किया गया था। यहाँ वनस्पति और जीव-जंतुओं की विविध प्रजातियाँ पाई जाती हैं।

7. ऋषिकेश

ऋषिकेश को बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री का प्रवेश द्वार माना जाता है। यह पवित्र तीर्थ स्थल समुद्र तल से 1360 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। हिमालय की निचली पहाड़ियों और और प्राकृतिक सौन्दर्य से घिरे इस स्थान से बहती गंगा इसे अतुल्य बनाती है। यहाँ का शांत वातावरण कई आश्रमों के लिए उपयुक्त है।

8. मुन्सियारी

पिथौरागढ़ जिले में स्थित यह खूबसूरत पर्वतीय स्थल है जो एक तरफ तिब्बत तो दूसरी ओर नेपाल की सीमा से लगा हुआ है। इसके सामने प्रसिद्ध पंचचूली पर्वत है जिसे किवंदतियों के अनुसार पांडवों के स्वर्गारोहण का प्रतीक माना जाता है।

9. अल्मोड़ा

कुमांऊ हिमालय में स्थित अल्मोड़ा एक पहाड़ी जिला है जो समुद्र तल से करीब 1600 मीटर की ऊंचाई पर है। यह नगर अपनी ऐतिहासिक विरासत के साथ प्राकृतिक सुंदरता का लिए भी काफी प्रसिद्ध है।

10. नाग टिब्बा

गढ़वाल हिमालय का नाग टिब्बा समुद्र तल से 3000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। ट्रेकिंग के शौकीनों के लिए यह जगह रोमांच से भरी हुई है। सूर्योदय और सूर्यास्त का खूबसूरत नजारा आप यहाँ से देख सकते हैं।