newsdog Facebook

सवर्ण आरक्षण बिल का विरोध कर रहे RJD नेता किस मुंह से मागेंगे वोट- रामविलास पासवान

Zee News Hindi 2019-01-10 17:38:46

आशिफ एकबाल/नई दिल्लीः सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण के फैसले से सरकार के मंत्री और नेता से लेकर जनता काफी खुश दिख रही है. केंद्रीय मंत्री और एलजेपी अध्यक्ष रामविलास पासवान ने भी सरकार के इस फैसले की सराहना की है. वहीं, उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी ने लोगों से जो वादे किए थे, उन सभी वादों को उन्होंने पूरा किया है.

रामविलास पासवान ने कहा कि हमने  SC/ST को लेकर पास हुए बिल पर भी सरकार को धन्यावाद दिया था. और प्रधानमंत्री के लिए धन्यवाद ज्ञापन यात्रा की थी. अब हम एक बार फिर सवर्णों को दिए जा रहे 10 फीसदी आरक्षण बिल को पास करने पर सरकार को धन्यवाद देते हैं. साथ ही प्रधानमंत्री के लिए धन्यवाद ज्ञापन यात्रा कार्यक्रम का आयोजन करेंगे.

रामविलास पासवान ने स्वर्ण आरक्षण का विरोध करने वालों पर भी जमकर हमला किया. उन्होंने खासतौर पर आरजेडी को निशाने पर लेते हुए कहा कि अब आरजेडी के नेताओं का क्या होगा जब वह जनता के सामने वोट मांगने जाएंगे. जो सवर्णों को मिले आरक्षण का विरोध कर रही है. वह किस मुंह से वोट मांगने के लिए जनता के पास जाएंगे.


पासवान ने पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह, पूर्व सांसद जगदानंद सिंह, पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह जैसे नेताओं पर जमकर तंज कसते हुए कहा कि यह लोग किस मुंह से अपनी ही जाति का वोट मांगने जाएंगे. जब यह वोट मांगने जाएंगे तो इनकी जाति के जनता ही इनसे सवाल करेंगे कि जब उनके हक की बात हो रही थी तो किस तरह से विरोध किया.

रामविलास पासवान यही नहीं रूके उन्होंने जीतन राम मांझी पर भी हमला बोला और कहा कि मांझी ने अपनी सारी सियासत एक लोकसभा सीट के लिए ताक पर रख दिया है.

रामविलास पासवान ने इसके साथ ही कहा कि न्यायपालिका में जारी प्रक्रिया को भी ठीक होना चाहिए. उन्होंने कहा कि न्यायपालिका में भी ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए की लोग कंपटीशन के के तहत पढ़े लिखे और अनुभवी लोग सामने आ सके. 

रामविलास पासवान ने कहा 10 फ़ीसदी स्वर्ण आरक्षण लागू होने की ख़ुशी उनकी पार्टी के तमाम नेता कार्यकर्ता और बिहार और देश की जनता मनाएगी.