newsdog Facebook

अखिलेश से हुआ सीबीआई जांच पर सवाल, बोले- दोहराया जा रहा कांग्रेस का किया

Janman TV 2019-01-11 18:03:10


लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के दो प्रमुख दल समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबन्धन से दोनों ही दलों का फायदा होगा और भारतीय जनता पार्टी की राजनीतिक मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दोनों के बीच गठबन्धन का औपचारिक ऐलान शनिवार को मायावती व अखिलेश यादव की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में किया जाना है। इस बीच   ने शुक्रवार को कन्नौज में अखिलेश की चौपाल कार्यक्रम में सीबीआई जांच के सवाल पर कहा कि कांग्रेस के रास्ते पर बीजेपी की सरकार चल रही है। अखिलेश ने कहा, कांग्रेस की सरकार में मेरे, नेता जी और डिंपल यादव के ख़िलाफ़ सीबीआई जांच हुई थी। अब बीजेपी की सरकार भी उसी रास्ते पर है।’


उन्होंने कहा कि सीबीआई चुनाव के पहले या फिर बाद में एक बार पूछताछ कर लें। बीच डिस्टर्ब न करे। कार्यक्रम में सपा अध्यक्ष से एक सवाल पूछा गया कि आपका नारा था कि काम बोलता है, अब कौन सा नारा है। इस पर अखिलेश ने जवाब दिया कि अब बीजेपी का धोखा बोलता है।

अखिलेश यादव ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि उन्होंने चुनाव में स्लॉटर हाउस के नाम पर लोगों को भड़काया था। बीजेपी ने सपा के लोगों पर आरोप लगाया। लेकिन अब सामने आ गया है कि स्लॉटर हाउस बीजेपी के लोगों का है। सब स्लॉटर हाउस चला रहे हैं।

कार्यक्रमें सपा अध्यक्ष ने मेट्रो के एक सवाल को लेकर कहा कि मेट्रो का काम अब सुस्त हो गया है। अच्छा हुआ सपा सरकार में ही ट्रेन आ गई थी, तब डिब्बा लाल था।अब डिब्बा आता तो उसका रंग कोई और होता।

गंगा की सफाई के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि गंगा तो बाद में साफ करें, पहले कन्नौज से गुजरने वाली काली नदी को साफ करें। काली नदी गंदगी से ही गंगा मैली हो रही है। अखिलेश ने आगे कहा कि भाजपा वाले काली नदी को नहीं साफ करेंगे क्योंकि उनकी नियत साफ नहीं है।

प्राइमरी शिक्षा व्यवस्था के सवाल पर जबाव देते हुए सपा सुप्रीमो ने कहा कि प्राइमरी शिक्षा की चौपट व्यवस्था खस्ता हाल है, इस समस्या का हल हमें मिलकर निकालना होगा। शिक्षा, बिजली, सड़क पानी के क्षेत्र में बहुत काम करना चाहिए। रोजगार के साधन पैदा करने चहिए। जब तक विकास का रास्ता नहीं पकड़ेंगे तब तक संसाधन नहीं सुधरेंगे। हमें अपनी पढाई-लिखाई की व्यवस्था को बदलना होगा। उन्होंने कहा कि हमने प्राइमरी शिक्षकों की ट्रेनिंग कराई थी, बिना सरकार से पैसा मांगे और स्कूल के संसाधन से ही स्कूल आगे बढ़ाने के उदाहरण पेश किए थे। लेकिन आज शिक्षा व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर आ गई है।

भ्रष्टाचार पर बोलते हुए अखिलेश बोले कि भ्रष्टाचार काफी बढ़ रहा है। इसके लिए पुलिस का रोल भी काफी अहम है। हमने यूपी 100 का गठन रेस्पांस टाइम सुधारने के लिए किया गया था। इसके अलावा हमने न्यूयार्क से अफसरों को ट्रेंड कराने के बाद इसे शुरू किया था और थाने का भ्रष्टाचार रोकने की कोशिश की थी, लेकिन अब थाने वाली बीमारी यूपी 100 में भी आ गई है। अखिलेश ने सुझाव दिया कि पुलिस के अफसरों को भी ट्विटर पर लाएं।