newsdog Facebook

कैप्टन सरकार की जन-हितकारी नीतियों को ज़मीनी स्तर तक पहुँचाने में अहम कड़ी पंचायती राज संस

5 Dariya News 2019-01-12 00:55:40

पंजाब के लोक निर्माण और सूचना प्रौद्यौगिकी मंत्री विजय इंद्र सिंगला ने आज स्थानिय रिजोर्ट में भारी जलसे के दौरान बठिंडा जि़ला की नयी चुनी पंचायतों के सरपंच, पंच, जि़ला परिषद सदस्यों और पंचायत कमेटी मैंबर को भारतीय संविधान के अंतर्गत मिली जि़म्मेदारियों को निश्चय -पहले और निरपक्षता से निभाने की कसम उठवाई। उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं के नये चुने नुमायंदों को नयी जि़म्मेदारी के लिए बधाईयाँ देते हुए लोगों के विश्वास पर खरा उतरने और सेवा भावना के साथ अपने-अपने क्षेत्र में विकास कार्य करने के लिए प्रेरित किया। श्री सिंगला ने कहा कि ज़मीनी स्तर पर किये कामों, लोगों की सेवा और मेहनत सदका राज्य के लोगों ने आपको जीत के रूप में यह जि़म्मेदारी सौंपी है, उसी सदका आप आज इस समागम का हिस्सा बने हो। इसलिए अब यह आपकी जि़म्मेदारी है कि इस फज़ऱ् को ईमानदारी और शिद्दत के साथ पूरा किया जाये। श्री सिंगला ने 16 जि़ला परिषद सदस्यों, 148 पंचायत कमेटी सदस्यों, 308 सरपंचों और 2419 पंचों को कसम उठवाई।अपने संबोधन के दौरान कैबिनेट मंत्री ने कहा कि सरकार की लोग-हितकारी नीतियां को ज़मीनी स्तर पर पंहुचाने में अहम कड़ी के तौर पर काम करने वाले सरपंच, पंच, जि़ला परिषद और पंचायती कमेटी मैंबर जि़लो के लोगों द्वारा उनमें प्रगटाए गए विश्वास को कायम रखते हुए बिना किसी डर से राज्य की तरक्की में सहयोग दें। उन्होंने समूह अधिकारियों को संबोधिन करते हुए कहा,'आप लोगों ने अपने -अपने गाँव की शक्ल बदलनी है और कैप्टन अमरिन्दर सिंह की सरकार आपको ज़रूरी ग्रांटें देने के लिए वचनबद्ध है। आप सरकार और लोगों के दरमियान सेतू का काम करके तरक्की की राह पर राज्य के विकास की रफ़्तार और तेज़ करनी है।पिछली सरकार को कड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि तब धक्केशाही और ज़ोर -ज़बरदस्ती के साथ और विरोधी पार्टियों पर पर्चे दर्ज करवा कर मतदान जीता जाता था परन्तु अब कांग्रेस की सरकार के दौरान गाँवों में किये कामों सदका, लोगों की तकलीफ़ को अपनी तकलीफ़ समझने के जज़बे सदका और ईमानदारी और मेहनतकशी सदका राज्य के लोगों ने पंचायती राज संस्थाओं के नुमायंदें चुन कर यहाँ भेजे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों के हितों में जब भी बड़े फ़ैसले लिए गए तो वह कांग्रेस की सरकारों दौरान ही लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि समाज की एकसार तरक्की के लिए राजीव गांधी के प्रधान मंत्री होते समय पंचायतों को अधिक अधिकार और अधिक ताकतों दीं गई। उन्होंने कहा कि राज्य की मां -बहनों को मर्दों के बराबर अधिकार भी कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार ने मतदान में 50 प्रतिशत सीटें औरतों के लिए आरक्षित करके दिया है। उन्होंने कहा कि पिछले करीब डेढ़ साल के दौरान राज्य सरकार ने पंचायती ज़मीनों पर किये नाजायज़ कब्ज़ों को हटाया है। इसके साथ जहाँ पंचायतों और सरकार को आमदन जो पहले 270 करोड़ रुपए होती थी, वह बढ़ कर 330 करोड़ रुपए हो गई है। उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं के अधिकारी जब ईमानदारी के साथ काम करेंगे तो यह स्वाभाविक है कि आमदन में और विस्तार होगा जिसके साथ गाँवों को और सहूलतें मुहैया करवाई जा सकेंगी।

कांग्रेस सरकार के सत्ता के 21 महीनों में राज्य के हुए विकास की बात करते हुए उन्होंने कहा कि कैप्टन सरकार अपने चुनावी मनोरथ पत्र में किये गए वायदों पर पूरा उतरने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि 10.25 लाख किसानों के लिए 2 लाख रुपए की कजऱ् मुआफी के वायदे के अंतर्गत अब तक 4.1 लाख किसानों को, बिना किसी भेद -भाव, करीब 4000 करोड़ रुपए की कजऱ् राहत दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि सहकारी बैंकों के किसानों को कजऱ् राहत देने के बाद अब अगले पड़ाव के अंतर्गत व्यापारिक बैंकों से कजऱ् लेने वाले छोटे किसानों को कजऱ् राहत दी जा रही है और सरकार अपना यह वायदा हर हाल में पूरा करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने गऱीब परिवारों के आटा -दाल स्कीम के अंतर्गत पुराने नीले कार्डों की जगह सिफऱ् एक स्मार्ट कार्ड जारी किया है जिससे असली लाभपात्री को उसका बनता हक आसानी से और जल्द से जल्द मिल सके।उन्होंने कहा कि समूह अधिकारी अपने -अपने अधिकार क्षेत्र अधीन पंचायती ज़मीनों की सीमा रेखा करें जिससे गऱीब परिवारों को 5-5 मरले के प्लॉट देने के सरकार के वायदे को जल्द  ही अमलीजामा पहनाया जा सके। उन्होंने कहा कि कैप्टन सरकार की सबसे बड़ी प्राप्ति यह रही है कि पिछले दशक के दौरान बिकने शुरू हुए घातक नशों को रोकने के लिए सरकार ने नशों की स्पलाई लाईन तोड़ दी है। इसके साथ राज्य की नौजवानी फिर सेहतमंद होगी। इसके अलावा डैपो और बड्डी जैसे प्रोग्रामों से नशा तस्करों पर सख़्त नजऱ रखने और नशों में घिरे हुए नौजवानों को फिर समाज की मुख्य धारा में लाने के यत्न ज़ोर -शोर के साथ आरंभ किए जा रहे हैं।श्री सिंगला ने पंचायती संस्थाओं की मतदान के दौरान कांग्रेस पार्टी की बड़े स्तर पर जीत को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार की लोग -हितैषी नीतियों पर मोहर और लोकतंत्र की जीत करार दिया। उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं की मतदान में कांग्रेस की जीत ने लोक सभा मतदान से पहले कांग्रेस -समर्थकी माहौल का स्पष्ट  इशारा कर दिया है। उन्होंने भरोसा जताया कि संसदीय मतदान में भी पार्टी शानदार जीत हासिल करेगी।जलसे को भुच्चो मंडी से कांग्रेस के विधायक श्री प्रीतम सिंह कोटभायी, कांग्रेस के जि़ला देहाती प्रधान ख़ुशबाज़ सिंह जटाना, कांग्रेस के जि़ला ग्रामीण प्रधान श्री अरुण वधावन, जनरल सेकटरी पंजाब परदेस कांग्रेस  श्री अशोक कुमार, सीनियर कांग्रेसी नेता श्री नरिन्दर सिंह भुलेरिया, श्री लखविन्दर सिंह लखा, श्री हरविन्दर सिंह लाडी, जि़ला परिषद मैंबर श्री गुरइकबाल सिंह ने भी संबोधन किया।पंजाब की नौजवानी को नशा मुक्त करने के लिए पिछले वर्ष 23 मार्च, 2018 को शहीद सरदार भगत सिंह, शहीद सुखदेव और शहीद राजगुरू के शहीदी दिवस के मौके पर पंजाब सरकार की तरफ से शुरू की गई निवेकली पहलकदमी डैपो (नशा रोकथाम अफसर) की समूचे अधिकारियों समेत समूचे जलसा को कसम उठवाई गई।समागम के दौरान डिप्टी कमिशनर बठिंडा श्री परनीत, आई.जी. श्री एम.एस. फ़ारूकी, एस.एस.पी. डा. नानक सिंह, अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर (जनरल) श्री सुखप्रीत सिंह सिद्धू और अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर (विकास) श्रीमती साक्षी साहनी कई कांग्रेसी नेता उपस्थित थे।