newsdog Facebook

रातोंरात गायब हो गया था ये गांव, सच्चाई जानकर डर जाएंगे आप

Naukri Namaa 2019-01-12 10:47:10

जयपुर, पुराने समय से ही हमारे देश में कई सभ्यताओं ने जन्म लिया। ये सभी सभ्यता समय के साथ साथ जमीन के नीचे दफन होती गई। जिनका रहस्य आज भी अनसुलझा है। आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे है जिसकी सच्चाई जानकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान राज्य के जैसलमेर जिले में स्थित कुलधरा नामक गांव जो पिछले 170 साल से विरान पड़ा हुआ है।हैरान कर देने वाली बात है कि ये गांव एक रात में ही गायब हो गया था। जिसके बारे में आज तक भी पता नहीं लगा की उस रात आखिर हुआ क्या था जो ये विरान पड़ गया। इसके पीछे एक कहानी प्रचलित है। बता दें कि करीब 200 साल पहले ये गांव लोगों से भरा पड़ा था। इस गांव के आस पास 84 गांवों में पालीवाल ब्राह्मण रहते थे। लेकिन एक बार इस गांव को किसी की बुरी नजर लग गई।जानकारी के लिए बता दें कि इस रियासत का दीवान सालम सिंह अय्यासी किस्म का शख्स था। एक दिन उस दीवान की नजर गांव की एक लड़की पर चली गई।दीवान उस लड़की पर पागल हो गया। वो उसको हर हालत में पाना चाहता था।हैरान कर देन वाली बात तो तब हुई जब दीवान ने लड़की के परिवार वालों के लिए संदेश भिजवा दिया कि उसकी पुर्णमासी तक अगर लड़की नहीं मिली तो वो लड़की को उठा ले जाएगा।गांव की चौपाल पर पालीवाल ब्राह्मणों की बैठक हुई और 5,000 से ज्यादा परिवारों ने अपने सम्मान के लिए रियासत छोड़ने का फैसला ले लिया. कहा जाता है कि निर्णय लेने के लिए सभी 84 गांव वाले एक मंदिर पर इकट्ठा हो गए.  अगली शाम कुलधरा कुछ यूं वीरान हुआ, कि आज परिंदे भी उस गांव की सरहदों में दाखिल नहीं होते. कहते हैं गांव छोड़ते वक्त उन ब्राह्मणों ने इस जगह को श्राप दिया था. बता दें कि बदलते वक्त के साथ 82 गांव तो दोबारा बन गए, लेकिन दो गांव कुलधरा और खाभा आजतक आबाद नहीं हो पाए।