newsdog Facebook

एसीबी की बड़ी कार्रवाई : यूआईटी के तीन सीनियर अधिकारी रिश्वत लेते गिरफ्तार, ले रहे थे मोटी रकम

Haribhoomi 2020-12-03 14:49:48
X

जयपुर। राजस्थान में एसीबी अपने त्वरित कार्रवाई और रिश्वतखोरों के खिलाफ चुस्त दुरुस्त नजर आ रही है। पिछले कई दिनों में एसीबी ने ऐसी ही बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए कई रिश्वत लेनेवालों का खुलासा किया है। गुरुवार को भी ऐसी ही एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए राजस्थान के भीलवाड़ा में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने नगर विकास न्यास (यूआईटी) के तीन वरिष्ठ अधिकारियों को बृहस्पतिवार को एक लाख रुपये कथित रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि गिरफ्तार अधिकारियों में अधीक्षण अभियन्ता रामेश्वर शर्मा, अधिशाषी अभियन्ता सतीश शारदा और सहायक अभियन्ता ब्रह्मालाल शर्मा शामिल हैं। सोनी ने बताया कि इनके खिलाफ एक व्यक्ति से शिकायत मिली थी। आरोप है कि भीलवाड़ा के नगर विकास न्यास के अधिकारी विभिन्न विकास कार्यों के बिलों को पास कराने में कमीशन के रूप में लोगों से रकम मांगते थे और उन्हें परेशान करते थे। एसीबी की जयपुर ग्रामीण एवं टोंक इकाई ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए यूआईटी भीलवाड़ा के अधीक्षण अभियन्ता रामेश्वर शर्मा, अधिशाषी अभियन्ता सतीश शारदा और सहायक अभियन्ता ब्रह्मालाल शर्मा को व्यक्ति से एक लाख रुपये कथित रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। सोनी के अनुसार अतिरिक्त महानिदेशक दिनेश एम.एन. के नेतृत्व में एसीबी टीम ने आरोपियों के आवास एवं अन्य ठिकानों पर छापेमारी की।

कार्रवाई के दौरान राजीव गांधी ऑडिटोरियम रोड स्थित आवास पर अधीक्षण अभियंता शर्मा ने 50 हजार रुपए, आरसी व्यासनगर स्थित आवास पर सतीश शारदा ने बिल पास करने के एवज में 50 हजार मांगे थे, लेकिन कार्रवाई के दौरान वो 25 हजार रुपए तथा संजय कॉलोनी में ब्रहमा लाल निर्माण कार्य की स्वीकृति के बदले 25 हजार रुपए लेते गिरफ्तार किए गए। उन्होंने बताया कि परिवादी की इच्छा के मुताबिक उसका नाम गोपनीय रखा गया है।