newsdog Facebook

वैक्सीन की राह में सड़क जाम करने वाले ममता के मंत्री की सफाई : वैक्सिंग मूवमेंट की नहीं थी जानकारी

Sanjeevni Today 2021-01-13 22:10:23

राज्य स्वास्थ्य विभाग की ओर से उपलब्ध कराए गए विशेष वाहन के जरिए ले जाई जा रही कोरोना वैक्सीन की राह में सड़क जाम करने वाले ममता कैबिनेट के मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी ने सफाई दी है।


राज्य स्वास्थ्य विभाग की ओर से उपलब्ध कराए गए विशेष वाहन के जरिए ले जाई जा रही कोरोना वैक्सीन की राह में सड़क जाम करने वाले ममता कैबिनेट के मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी ने सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि वह नहीं जानते थे कि गलसी में जिस राष्ट्रीय राजमार्ग पर वह नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं वहां से वैक्सीन ले जाई जानी हैं। जैसे ही उन्हें पता चला कि उनके विरोध प्रदर्शन की वजह से वैक्सीन ले जा रही गाड़ी अटकी हुई है, उन्होंने तुरंत सड़क खाली करवा दिया। हालांकि तब तक वैक्सीन ले जा रही गाड़ी का रूट मोड़ दिया गया था।

इस बारे में पूर्व बर्दवान के पुलिस अधीक्षक भास्कर मुखर्जी ने बताया कि वैक्सीन ले जाने वाली इंसुलेटेड वैन को कोलकाता को नई दिल्ली से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर गलसी क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन की वजह से रोकना पड़ गया था। हालांकि इसकी तत्काल आपूर्ति को देखते हुए तुरंत दूसरे रूट से मोड़ दिया गया था। पुलिस पायलट कार के साथ ले जाई जा रही वैन पांच किलोमीटर ग्रामीण क्षेत्रों से गुजरने के बाद दोबारा राष्ट्रीय राजमार्ग पर आ गयी थी, जहां से सुरक्षित रवाना हुई है। हालांकि अपुष्ट सूत्रों ने बताया कि न केवल पांच किलोमीटर बल्कि कम से कम 20 किलोमीटर अलग रूट से वैक्सीन को ले जाना पड़ा है जिसके कारण इसे गंतव्य तक पहुंचने में देरी हुई है। 

राज्य स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार कोलकाता में मौजूद वैक्सीन स्टोर से विशेष वातानुकूलित ट्रक वैक्सीन लेकर पूर्व बर्दवान, बांकुड़ा और पुरुलिया के लिए रवाना हुई थी। सुबह करीब 10 बजे पूर्व बर्दवान के स्वास्थ्य केंद्र पर 31500 वैक्सीन उतारने के बाद यह वाहन बांकुड़ा और पुरुलिया के लिए रवाना हुई थी, लेकिन गलसी में ममता बनर्जी के मंत्री के नेतृत्व में कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजमार्ग पर हो रहे विरोध प्रदर्शन की वजह से वाहन फंस गई। वह भी ऐसा तब हुआ जब ग्रीन कॉरिडोर के जरिए इसे ले जाया जा रहा था। यानी वैक्सीन के मूवमेंट की पूरी जानकारी पुलिस को थी लेकिन मंत्री के विरोध प्रदर्शन को रोका नहीं जा सका। इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी ने सवाल खड़ा किया है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने चौधरी पर सवाल खड़ा किया है।