newsdog Facebook

Kumbh Mela 2021: कुंभ मेले पर कोरोना का साया, गंगा में डुबकी लगाने से पहले जान लें, ये जरुरी नियम

Haribhoomi 2021-01-18 11:48:53
X

Kumbh Mela 2021: ग्रहों की अद्भुत चाल के कारण इस बार कुंभ मेला (Kumbh Mela) 11वें साल में हो रहा है। आमतौर पर इसे प्रत्येक 12वें वर्ष में मनाने की परंपरा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कई वर्षों के बाद बृहस्पति के कुंभ राशि और सूर्य के मेष राशि में आने से ऐसा संयोग बना है। आपको बता दें कि इस बार कुंभ मेला (Kumbh Mela) केवल 48 दिनों का ही होगा। जोकि आमतौर पर 120 दिनों तक मनाया जाता है। इस बार मेला प्रशासन ने कुंभ में आने के लिए रजिस्ट्रेशन प्रणाली (Registration system) लागू की है। अब कुंभ क्षेत्र में उन्हीं श्रृद्धालुओं को जाने दिया जाएगा जिन्होंने हरिद्वार कुंभ मेला 2021 की अधिकारिक वेबसाइट (Website of Kumbh Mela 2021 Haridwar) पर अपना पंजीकरण (Registration) करवाया होगा। मेला प्रशासन इस समय बाहर से आने वाले श्रृद्धालुओं पर पंजीकरण (Registration) की निगरानी का काम कर रहा है। जो श्रृद्धालु शाही स्नान और मुख्य स्नान करना चाहते हैं उन्हें पहले कुंभ मेला 2021 हरिद्वार की वेबसाइट (Website of Kumbh Mela 2021 Haridwar) पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन (Online registration) करवाना अनिवार्य रहेगा। कुंभ को सफल बनाने में मेला प्रशासन का पूरा सहयोग करें। और कुंभ मेले में इस बार आपको किन-किन बातों का विशेष ध्यान रखना है उन्हें जान लीजिए।



Also Read: Kumbh Mela 2021: एक वर्ष पहले हुआ कुंभ महापर्व का आगाज, ये हैं मुख्य और शाही स्नान की तिथियां

कुंभ मेला के नियम (Rules of Kumbh Mela)

  • मेले में आने वाले श्रृद्धालुओं को अब ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा। जो भी श्रृद्धालु ट्रेन और बसों से हरिद्वार आएंगे, उन्हें कोविड के सभी नियमों का पालन करना होगा।
  • स्कैनिंग और अन्य स्वास्थ्य संबंधित व्यवस्थाएं सरकार द्वारा की जाएंगी।
  • आपको गंगा में डुबकी लगाने से पहले अपनी कोविड-19 रिपोर्ट दिखानी होगी।
  • मास्क के साथ होगी कुंभ में स्नान करने की अनुमति।
  • निश्चित समय पर स्नान करके आपको वापस लौटना होगा।
  • भीड़ को कंट्रोल करने के लिए हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर मेला कंट्रोल सिस्टम रहेगा।
  • कुंभ मेले के लिए इस बार 35 स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी।