newsdog Facebook

गांव के बेरोजगारों के लिए पावर कंपनी खोलेगी रोजगार के दरवाजे, हर माह 20 हजार तक होगी कमाई

Haribhoomi 2021-01-18 13:53:04
X

रायपुर. गांवों के बेरोजगार युवकों के लिए पॉवर कंपनी रोजगार के दरवाजे खोलने जा रही है। नए सत्र अप्रैल से पाॅवर कंपनी उनको काम देने की तैयारी में है। अब ग्रामीण युवा अपने ही गांव में काम करके हर माह 10 से 20 हजार रुपए तक कमाई कर सकेंगे। युवकों को अपने गांव या आसपास के गांवों के बिजली उपभोक्ताओं के मीटरों की रीडिंग करनी होगी। इसके लिए अपने मोबाइल पर पाॅवर कंपनी का ऐप डाउनलोड करना होगा। युवक अपना पंजीयन कराने के बाद काम शुरू कर सकेंगे। इसके लिए किसी ठेकेदार की मदद की जरूरत नहीं पड़ेगी। कोई भी युवक यह काम कर सकेगा। पहले चरण में फोकस ग्रामीण क्षेत्र पर रहेगा, इसके बाद योजना को शहरों में भी लागू किया जाएगा।



पाॅवर कंपनी में इसके लिए साॅफ्टवेयर बनाने का काम अंतिम चरण में है। प्रदेश में 50 लाख घरेलू बिजली उपभोक्ता हैं। इनके मीटरों की रीडिंग कराने के लिए पाॅवर कंपनी ने ठेके पर काम देकर रखा है। ठेकेदारों को साढ़े पांच रुपए एक मीटर रीडिंग के दिए जाते हैं। इसमें रीडिंग के साथ बिल भी देना शामिल है। इस समय प्रदेशभर में मोबाइल ऐप के माध्यम से ही रीडिंग हो रही है। इस स्पॉट बिलिंग में भी शिकायतों का अंबार है। ग्रामीण क्षेत्र में स्थिति ज्यादा बुरी है, जहां से शिकायतें आती हैं कि रीडर समय पर रीडिंग नहीं करते या फिर हर माह रीडिंग नहीं होती। ऐसे में अब पाॅवर कंपनी ने नई व्यवस्था करने का फैसला किया है।

एप से होगी रीडिंग



पाॅवर कंपनी ने अपना एक साॅफ्टवेयर निर्माण प्रारंभ किया है, इसका निर्माण अंतिम चरण में है। सॉफ्टवेयर बनने के बाद पाॅवर कंपनी अपना एक नया ऐप रीडिंग के लिए तैयार करेगी। इस समय जो ऐप चल रहा है, उसी तरह का यह ऐप होगा। इसमें किसी भी गांव का, कोई भी युवक अपने गांव के उपभोक्ताओं की रीडिंग कर सकेगा। ऐसा करने से पहले उसे पाॅवर कंपनी में तय नियमों के मुताबिक पंजीयन कराना होगा। इसके बाद उसे रीडिंग का टारगेट उसके गांव की आबादी के हिसाब से मिलेगा।

हर माह 20 हजार तक कमाई संभव

पाॅवर कंपनी ने अभी मीटर रीडिंग के लिए मेहनताना तय नहीं किया है, लेकिन संभावना है कि तीन से चार रुपए प्रति मीटर रीडिंग के मिलेंगे। अगर रीडिंग करने वाले युवक ठेकेदारों के रीडरों की तरह ही ब्लूटूथ प्रिंटर ले लेंगे और बिल निकालने की भी व्यवस्था कर लेंगे तो उसको साढ़े पांच रुपए हर बिल के मिल जाएंगे। ऐसे में यदि पांच हजार आबादी वाले गांव की पूरी रीडिंग कोई युवक करेगा तो 15 से 20 हजार रुपए तक मिल जाएंगे।

रोजगार देने योजना तैयार

ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को मीटर रीडिंग के माध्यम से रोजगार देने की योजना तैयार की गई है। जैसे ही साॅफ्टवेयर बनेगा और ऐप तैयार होगा, योजना लागू कर देंगे।

- हर्ष गौतम, एमडी, पाॅवर वितरण कंपनी