newsdog Facebook

महाराष्ट्र में हफ्ते भर में कोरोना टीकाकरण की रफ्तार हुई दोगुनी, 1 करोड़ डोज के करीब

News India Live 2021-04-08 08:00:53

नई दिल्ली: कोविड-19 संक्रमण के मामलों में देश में शीर्ष पर चल रहा महाराष्ट्र वैक्सीनेशन अभियान में भी पहले क्रम पर है. 6 अप्रैल तक महाराष्ट्र में 85.6 लाख जैब्स दी जा चुकी है और वह एक करोड़ जैब्स के काफी करीब है. लोकमत समाचार को मिली जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र ने वैक्सीनेशन को तेज कर दिया है और अब वह प्रतिदिन औसतन चार लाख लोगों को वैक्सीन दे रहा है.

मंगलवार को ही महाराष्ट्र में 4.30 लाख लोगों को टीका लगा है. महाराष्ट्र ने केवल एक हफ्ते में वैक्सीनेशन को दोगुना करने में कामयाबी हासिल की है. 31 मार्च को महाराष्ट्र में 2.20 लाख जैब्स दिए गए थे, जो कि 5 अप्रैल को 4.40 लाख तक पहुंच गए. हालांकि केंद्र सरकार ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की 18 वर्ष से कम उम्र के लोगों को भी वैक्सीनेशन की मांग पर फिलहाल कोई जवाब नहीं दिया है.

कोरोना वैक्सीन की अपर्याप्त उत्पादन क्षमता

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट (कोविशील्ड) और भारत बायोटेक (कोवैक्सीन) की ताजा अपर्याप्त उत्पादन क्षमता को देखते हुए नये वर्ग को वैक्सीनेशन नहीं दिया जा सकता. 6 अप्रैल तक भारत में 8.70 करोड़ डोज दिए जा चुके हैं. अब लक्ष्य तीन करोड़ स्वास्थ्य व अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं सहित 45 वर्ष से अधिक उम्र के 30 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन है.

ताजा हालात को देखते हुए इसमें कम से कम सात महीने का वक्त लग सकता है. सीरम के डब्ल्यूएचओ और अन्य देशों से पहले के अनुबंधों को देखते हुए यह और मुश्किल होगा. स्थिति तभी सुधर सकती है जब बाजार में नई वैक्सीन आए या फिर वर्तमान उत्पादन क्षमता में इजाफा किया जाए.

दोगुना वैक्सीनेशन जरूरी

महाराष्ट्र को अगर कोविड संक्रमण की वर्तमान दर को 14.9% (6 अप्रैल), जो देश में सर्वाधिक है, कम करना है तो वैक्सीनेशन के लक्ष्य को दोगुना करना होगा. वैसे महाराष्ट्र में कोविड-19 से मौत की दर बेहद कम 1.8% है.

अन्य राज्यों में वैक्सीनेशन की बात करें को महाराष्ट्र में 85.6 लाख, गुजरात में 80.2 लाख, राजस्थान में 78.2 लाख  और उत्तर प्रदेश में 76.4 लाख वैक्सीन दी गई है। ये आंकड़े 6 अप्रैल तक के हैं।