newsdog Facebook

Corona Vaccination : पीएम मोदी ने 38 दिनों बाद ली कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज - Navbharat Times

India News Nine 2021-04-08 08:46:21

हाइलाइट्स:

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 39वें दिन कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक भी ले ली
  • उन्होंने आज सुबह एम्स जाकर देसी वैक्सीन कोवैक्स की दूसरी डोज ली है
  • पीएम ने 1 मार्च को टीकाकरण के तीसरे चरण के पहले ही दिन पहली डोज ली थी

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज भी लगवा ली है। उन्होंने दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान (AIIMS) जाकर वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई। पीएम ने 38 दिन पहले टीके की पहली डोज भी एम्स में ही लगवाई थी। नियम के मुताबिक, उन्होंने दूसरी डोज के लिए भी आज एम्स का ही रुख किया।

पीएम ने लगवाई देसी कोरोना वैक्सीन

प्रधानमंत्री ने 1 मार्च को कोविड-19 महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शुरुआत में ही वैक्सीन लगवाई थी। उन्होंने 1 मार्च की अहले सुबह ही एम्स पहुंचकर टीका लगवा लिया था। एम्स में भारतीय आर्युविज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) और भारत बायोटेक के संयुक्त प्रयासों से विकसित कोविड वैक्सीन कोवैक्स (Covax) की डोज दी जा रही है। पीएम मोदी को आज कोवैक्स की दूसरी खुराक भी मिल गई है।



हर किसी को लेनी है वैक्सी की दो डोज
अनुसंधान में पाया गया है कि कोरोना वैक्सीन की दो डोज एक निश्चित अंतराल पर लगवाने से इंसान के अंदर वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता (Immunity against Coronavirus) उचित स्तर पर पहुंच जाती है। इसलिए, दुनियाभर में विकसित अलग-अलग तरह की कोरोना वैक्सीन की दो खुराक लिए जा रहे हैं।



नियमानुसार किसी भी व्यक्ति को किसी एक ही ब्रैंड की वैक्सीन की ही दूसरी डोज लेनी होती है। ऐसा नहीं हो सकता है कि पहली डोज किसी एक ब्रैंड की जबकि दूसरी डोज अन्य ब्रैंड की ली जाए। यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पहली और दूसरी डोज देसी कोरोना वैक्सीन कोवैक्स की ही लगवाई है।



1 मार्च को ही ले ली थी पहली डोज
ध्यान रहे कि पीएम मोदी के वैक्सीन लगवाने के बाद देश में टीके को लेकर कई शंकाओं पर विराम लग गया था। विपक्ष के कई नेताओं ने वैक्सीन की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए थे और पूछा था कि अगर वैक्सीन सुरक्षित है तो खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रीगण इसे क्यों नहीं लगवा रहे हैं? हालांकि, पीएम ने अपनी बारी का इंतजार किया और 1 मार्च को जैसे ही 60 वर्ष से ऊपर के सभी व्यक्ति को टीका लगाए जाने की शुरुआत हुई, उन्होंने अपनी पहली खुराक ले ली।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली।