newsdog Facebook

महामारी नियंत्रण में रही तो आवास बिक्री 2019 के स्तर को छू सकती है: क्रेडाई

Punjab Kesari 2021-04-07 22:36:30

नयी दिल्ली, सात अप्रैल (भाषा) आवास बिक्री जो पिछले साल महामारी के कारण 7-8 प्रमुख शहरों में 40-50 प्रतिशत तक गिर गई थी, वह इस वर्ष फिर से वर्ष 2019 के स्तर को छू सकती है बशर्ते कि कोविड-19 की दूसरी लहर पर अंकुश लगाने के लिए पूर्ण लॉकडाउन लागू नहीं हो। रियल्टी कंपनियों के प्रमुख निकाय क्रेडाई ने बुधवार को यह जानकारी दी।

नयी दिल्ली, सात अप्रैल (भाषा) आवास बिक्री जो पिछले साल महामारी के कारण 7-8 प्रमुख शहरों में 40-50 प्रतिशत तक गिर गई थी, वह इस वर्ष फिर से वर्ष 2019 के स्तर को छू सकती है बशर्ते कि कोविड-19 की दूसरी लहर पर अंकुश लगाने के लिए पूर्ण लॉकडाउन लागू नहीं हो। रियल्टी कंपनियों के प्रमुख निकाय क्रेडाई ने बुधवार को यह जानकारी दी।
एक वीडियो प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, क्रेडाई के राष्ट्रीय अध्यक्ष हर्षवर्धन पटोदिया ने कहा कि वर्ष 2021 की जनवरी-मार्च तिमाही के दौरान आवास बिक्री में वृद्धि हुई है और उम्मीद है कि अगले नौ महीनों में यह प्रवृत्ति जारी रहेगी।
उन्होंने कोविड-19 महामारी की दूसरी प्रमुख लहर पर चिंता व्यक्त की और कहा कि इसके प्रभाव का आकलन करने में समय लगेगा।
इस वर्ष एक अप्रैल से क्रेडाई के अध्यक्ष का प्रभार संभालने वाले पटोदिया ने कहा, "हम कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर को लेकर चिंतित हैं।" देश भर में कोरोनोवायरस की नई लहर पर विचार करते हुए मौजूदा वर्ष के लिए परिदृश्य के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि नाइट फ्रैंक इंडिया के आंकड़ों के अनुसार जनवरी-मार्च तिमाही में आवास बिक्री में 44 प्रतिशत वृद्धि हुई है।
उन्होंने कहा कि बिक्री फिर से वर्ष 2019 के स्तर तक वापस लौटनी चाहिए, बशर्ते कि महामारी नियंत्रण में रहे और आर्थिक गतिविधियों पर पूर्ण रूप से रोक न लगे, जैसा कि पिछले साल अप्रैल-मई के दौरान देखा गया था।
नाइट फ्रैंक इंडिया के अनुसार, आवासीय संपत्तियों की बिक्री पिछले साल के 2,45,861 इकाइयों की तुलना में आठ शहरों में 2020 में 37 प्रतिशत घटकर 1,54,534 इकाई रही।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।