newsdog Facebook

दुर्ग: जिन साढ़े 7 लाख को वैक्सीन लगनी है कोरोना संक्रमण रोकने का दारोमदार इन्हीं पर

Samachar Nama 2021-05-03 00:00:00

जिले में 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन लगना शुरू हो गया है। 1 मई से 12 केंद्रों से इसकी शुरुआत की गई। दूसरे दिन रविवार को 15 केंद्रों में टीके लगाए गए। पहले दिन जहां 169 लोगों को वैक्सीन लगी। वहीं दूसरे दिन 255 को टीका लगाया जा सके। इस प्रकार दो दिन में 424 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लग गई।
आईसीएमआर गाइडलाइन के मुताबिक 18 से 45 वर्ष के लोगों में टीकाकरण सबसे जरूरी है। इन्हें सबसे बड़ा कोरोना स्प्रेडर माना गया है। इसकी वजह से यह है कि ये वे लोग हैं, जो घर से नौकरी व व्यापार करने बाहर निकलते हैं। इनमें बड़ी संख्या में स्कूल व कॉलेज के छात्र होते हैं। संक्रमण इधर से उधर इनके माध्यम से अधिक फैलता है। इन्हें यदि वैक्सीन लग जाए तो कोरोना का संक्रमण अपने आप कम होने लगेगा।
जिले में 18 प्लस वाले 7.5 लाख लोग हैं। इनमें करीब 2.1 लाख हितग्राही अंत्योदय कार्डधारी हैं। इनका वैक्सीनेशन शुरू कर दिया गया है। इससे पहले 16 जनवरी से अबतक के 105 दिनों में हेल्थ वर्कर, फ्रंट लाइन वॉरियर और 45 से ज्यादा आयु वर्ग में 85% को वैक्सीन की पहली और 18% को दूसरी डोज दे पाए हैं। जिले के कुल 12.5 लाख हितग्राहियों की संख्या के हिसाब से देखें तो अबतक 27% को पहली डोज और 5% को ही दूसरी डोज लग पाई है। इस प्रकार वैक्सीनेशन की रफ्तार काफी धीमी है।